अनुवाद

शनिवार, 8 दिसंबर 2012

अपनी वेबसाइट का डोमेन नाम हिन्दी में रखिए!!!

यदि आप अपनी भाषा से प्यार करते हैं, तो आप प्रोफेसर टैन टिन वी नाम नहीं छोड़ सकते हैं| इस भाषा उत्साही सिंगापुर के राष्ट्रीय विश्वविद्यालय (बायोइनफॉरमैटिक्स सैंटर, जैव रसायन विभाग, दवा के योंग लू लिन स्कूल) मे काम करते है और उन्होने भाषाओं के लिए चमत्कार किया है, विशेष रूप से इंटरनेट भारतीय भाषाओं पर|
साक्षात्कार: भाषा डोमेन नाम पर टैन टिन वी

उनके नेतृत्व में सिंगापुर ने 1994 में पहली चीनी वेबसाइट की मेजबानी की, 1995 में वेब तमिल लिपियों का उपयोग कर यह पहेले साइट है, और 1996 में एक बहुभाषी वेब साइट की मेजबानी की| लेकिन उनकी भाषाओं के लिए प्रमुख योगदान अवधारणा 'नामक अंतर्राष्ट्रीय डोमेन नाम' (इड़न) जिससे भाषाओं मे डोमेन नाम का इस्तेमाल किया जा सकता है| उनको तमिल इंटरनेट सम्मेलन 9, विश्व शास्त्रीय तमिल कांग्रेस जो कोयंबटूर में हाल ही में आयोजित किया गया था उसमे उनको तमिलनाडु सरकार द्वारा 'तमिल इंटरनेट फ्रंटियर पुरस्कार' दिया गया था|

यह भाषैंडिया के लिए एक प्रतिष्ठित क्षण था जब टैन टिन वी भाषा कंप्यूटिंग और इतिहास पर एक विशेष विकास और अंतर्राष्ट्रीय डोमेन नाम के क्षेत्र पर विशेष रूप से साक्षात्कार की अनुमति दी | यहाँ उसका साक्षात्कार के अंश प्रस्तुत हैं|

प्रश्न: यह भाषाइंडिया के लिए खुशी के पल है की प्रोफेसर टैन टिन वी से बात करने का अवसर मिला| आप कृपया अवधारणा के बारे में 'अंतर्राष्ट्रीय डोमेन नाम' कुछ बता सकते हैं?
उत्तर: अंतर्राष्ट्रीय डोमेन नाम (इड़न) आप एक डोमेन अपने गैर अंग्रेजी (हिंदी, तमिल या किसी भी भाषा) वेबसाइट के रूप में एक ही भाषा में व्यक्त नाम करने के लिए सक्षम है| इसका मतलब है, आप गैर-आएएससीईई वर्णों अंग्रेजी (लैटिन) डोमेन नाम के स्थान पर उपयोग कर सकते हैं|

'अंतर्राष्ट्रीय डोमेन नाम', के बारे में तलाश करने से पहले आइए, हम अवधारणा, 'डोमेन नाम' शुरू करते हैं| एक डोमेन नाम विशिष्ट एक इंटरनेट प्रोटोकॉल संसाधन (आईपी) को दिखाता है जैसे की इंटरनेट पर एक वेब साइट| डोमेन डोमेन नाम प्रणाली (डीयेनएस) पर आधारित हैं| डोमेन नामों का सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य संख्यानुसार संबोधित वेबसाइटों को आसानी से पहचानने और मेमोरीज़ब्ले नाम प्रदान करना है| 15 मार्च 2010 तक, 84 मिलियन डोमेन नाम था| लेकिन अफसोस, वेबसाइट तक पहुँचने के लिए लैटिन अक्षरों का उपयोग टाइप करना है|

प्रश्न: क्षेत्रीय भाषाओं के पीछे कारण क्या था की डोमेन नाम से संबंध छोड़ दिया है?

अमेरिका के ऐतिहासिक प्रभुत्व और आस्की चरित्र कम आम विभाजक के रूप में सेट नेट का उपयोग करने से गैर अंग्रेजी उपयोगकर्ताओं को प्रतिबंधित किया| इंटरनेट और अधिक लोग जो लैटिन भाषाओं और लिपियों वालों की तुलना में प्रयोग नहीं करते| लेकिन कीसे  ने भी उनके लिए परवाह नहीं की|

प्रश्न: तो फिर, कैसे क्षेत्रीय भाषा डोमेन नाम के लिए सूक्षम काल शुरू हुआ?

उत्तर: जब वेब पेज 90 के दशक में भाषा की सामग्री के साथ प्रदर्शित होना शुरू हुआ, भाषा डोमेन नामों के लिए मांग बढ़ी| इसलिए, भाषा प्रेमियों के लिए दबाव 'अंतर्राष्ट्रीय डोमेन नाम' पर शुरू कर दिया|

दुनिया की आबादी का 83 प्रतिशत गैर अंग्रेजी भाषी होने का अनुमान, डोमेन नाम उनकी अपनी भाषा में किया जाना चाहिए| इसलिए, इड़न दुनिया के इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के बहुमत के लिए एक उपयोगी इंटरनेट लाने में एक महत्वपूर्ण पहला कदम था जो पहले अपनी मूल भाषा में इंटरनेट का उपयोग बंद कर दिया था|

इड़न मूलतः मार्टिन डर्स्ट द्वारा दिसंबर 1996 में प्रस्तावित किया गया था| मुझे गर्व है कि यह मेरे नेतृत्व में प्रयोग किया गया था और अंत में इड़न ने लागू किया | आवेदन पत्र (आइडीएनए) में डोमेन नाम अंतरराष्ट्रीयकरण प्रणाली एक मानक के रूप में अपनाया गया था और कई शीर्ष स्तर के डोमेन में लागू किया गया है|

प्रश्न: क्या यह संभव की आब व्यक्ति अंतरराष्ट्रीयकरण डोमेन नाम' रजिस्टर और उपयोग कर सकते है?

जवाब: जैसा कि मैंने पहले उल्लेख किया है, कार्रवाई की योजना लि गयी और धार्मिक 1998 के बाद से अनुसरण किया|

इड़न प्रणाली मानकीकृत करने के लिए "निरुपित नाम और नंबर के लिए इंटरनेट कंसोर्टियम '(आईसीएएनएन) नामक संगठन का गठन किया|
 लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए 10 साल लगे| अक्टूबर 2009 में, आईसीएएनएन इंटरनेट में अंतरराष्ट्रीयकरण देश कोड शीर्ष स्तर डोमेन जो देशी भाषा लिपियों के लिए मानक आइडीएनए उपयोग के सृजन को मंजूरी दी| मई 2010 में पहली इड़न देश कोड शीर्ष स्तर डोमेन डीएनएस जड़ क्षेत्र में स्थापित किया गया|

अब, काई कंपनियों जैसी  ई-डीयेनएस.नेट  डोमेन नाम पंजीकरण 60 से अधिक भाषाओं में समर्थन कर रहे हैं| यह सूची जल्दी ही विस्तार होगा|
प्रश्न: यह महान है! तो, हम हिंदी, तमिल और मलयालम डोमेन जल्द ही जनता के द्वारा प्रयोग की जाने वाली नाम की उम्मीद कर सकते है| लेकिन, कैसे भाषा कंप्यूटिंग के लिए भाषाओं में इंटरनेट डोमेन नाम लाकर लाभ कैसे मिलेगा?

उत्तर: भाषा कंप्यूटिंग के बुनियादी अवधारणा के लिए आम जनता के लिए कंप्यूटर को लाभ मे लाना है| हर इंसान को अपनी मूल भाषा में इंटरनेट का उपयोग का अधिकार है| एक बार व्यक्ति के पास यह अधिकार दिया जाता है या अवसर भाषा की बाधाओं को पार कर जानकारी का उपयोग करने के लिए वह एक अधिक समावेशी और प्रबुद्ध नागरिक बन जाता है, जो और सभी चीजों की एक विशेष रूप से सूचना और ज्ञान उपभोक्ता है| यह एक महान लाभ है जो इड़न उद्धार करेगा|

दुनिया में मेजर जनसंख्या अंग्रेजी भाषा से परिचित नहीं है| कम से कम अंग्रेजी भाषा जाने बिना, यह बहुत मुश्किल है व्यक्ति को नेट पर संसाधनों का उपयोग करना| यह सच है नेट पर क्षेत्रीय भाषा की सामग्री है| लेकिन, कैसे एक व्यक्ति उसे उपयोग करें? अंग्रेजी जाने बिना, वह / वे डोमेन नाम (वेबसाइट पता) टाइप नहीं कर सकते| एक बार जब हम इस बाधा को तोड़ ढें, यह पूरी आबादी तक पहुँच गा और नेट के लाभों का आनंद लेना शुरू होगा| वे अपनी भाषा को नेट पर समृद्ध बनाने में योगदान शुरू कर देंगे| इस तरह, इड़नभाषा कंप्यूटिंग की मदद करेगा|

प्रश्न: आस्की या लैटिन आधारित डोमेन नाम की तरह, ई मेल आईडी भी गैर अंग्रेजी भाषी लोगों से पहले एक और प्रतिबंध नहीं है| उने अपनी ही भाषा में कब ई मेल आईडी मिलगा?

जवाब: हाल ही में आईसीएएनएन शीर्ष स्तर पर आइडीएन परिचय की मंजूरी ढी| यहाँ ई मेल पते में केवल अंग्रेजी अक्षर का प्रतिबंध हटा| इसलिए, उपयोगकर्ताओं को अपनी भाषा में ई मेल आईडी अब मिल सकती है|

प्रश्न: जैसा कि आप जानते हैं, भाषाइंडिया प्रमुख भारतीय भाषाओं के अधिकांश और अंग्रेजी में भाषा कंप्यूटिंग के बारे में सूचनात्मक सामग्री आवश्यकताओं और हाल ही में अपने पोर्टल अंग्रेजी में किया | भाषा कंप्यूटिंग उत्साही और विशेषज्ञ होने के नाते, आप कैसे इंडिक भाषा कंप्यूटिंग में भाषाइंडिया के प्रयास का प्रमाण करते है? क्या कोई सुझाव है?

जवाब: मेने भाषाइंडिया देखा है और इसका उल्लेख करता हूँ जब यह भारतीय भाषाओं के लिए आता है| हाल ही में मेने श्री मनियं (आइ-डीएनएस.नेट इंक इंटरनेशनल) की साक्षात्कार भाषाइंडिया में 'अंतरराष्ट्रीयकरण डोमेन नाम पर पढ़ा, भाषाइंडिया का प्रयास बेहद प्रशंसनीय है|

मेरा सुझाव इसे एक और अधिक आकर्षक संसाधन केन्द्र बनाना है| आम लोग जाने और पता लगाना है कि कंप्यूटर उनके लिए भी है| कृपया आसान और सामान्य भाषा में आप अपनी सामग्री बनाए| लोगों को सूचना प्रौद्योगिकी की असीमित क्षमता के बारे में पता ढें| कृपया उन्हें नहीं बताया अंग्रेजी से डर नही क्योंकि क्षेत्रीय भाषाओं भी उभर रही हैं |

  Source : http://bhashaindia.com/Patrons/LanguageTech/hi/Pages/TanTinWee.aspx

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपसे विनम्र प्रार्थना है इस पोस्ट को पढ़ने के बाद इस विषय पर अपने विचार लिखिए, धन्यवाद !