अनुवाद

बुधवार, 5 नवंबर 2014

गूगल भारत में स्मार्टफोनों पर हिन्दी कुंजीपटल स्थापित करेगा

गूगल भारतीय स्मार्टफोन निर्माताओं के साथ भागीदारी की योजना बना रही है ताकि उन लाखों उपयोगकर्त्ताओं के लिए बेचे जाने वाले उपकरणों पर अपना हिन्दी कीबोर्ड स्थापित कर सके जो हिन्दी जानते हैं।  इन साझेदारियों के माध्यम से, मोबाइल फोन उपयोगकर्त्ताओं को मौजूदा स्मार्टफोन पर सॉफ्टवेयर अपडेट के माध्यम से हिन्दी में ईमेल और संदेश टाइप करने की सुविधा मिलेगी। 
"हम मूल उपकरण निर्माताओं (ओरिजिनल इक्विपमेंट मेकर) के साथ गठबंधन करने की सोच रहे हैं ताकि इनके द्वारा बनाए जाने वाले उपकरणों में हिन्दी कीबोर्ड को मानक कीबोर्ड की तरह स्थापित कर सकें। ” यह जानकारी कपिल खोसला, गूगल इंडिया के उत्पाद प्रमुख ने एक अंग्रेजी दैनिक को दी है. उन्होंने आगे कहा कि इस पर गूगल की बातचीत जारी है। 
अधिकांश मौजूदा स्मार्टफोनों में हिन्दी भाषा समर्थन की सुविधा उपलब्ध है, लेकिन जब कोई उपयोगकर्त्ता ईमेल या एसएमएस की टाइपिंग करना चाहता है तो पूर्वनिर्धारित रूप से अंग्रेजी कीबोर्ड खुल जाता है और वह कुंजीपटल में अंग्रेजी भाषा के साथ सहज नहीं हो पाता है। यह भाषाई उपयोगकर्त्ताओं के लिए एक बहुत बड़ी बाधा है, जो अंग्रेजी के कारण अभी भी बनी हुई है।  भारत के 92.40 करोड़ मोबाइल फोन उपयोगकर्त्ताओं में से लगभग 71 प्रतिशत अभी भी साधारण फोन का उपयोग कर रहे हैं। हिन्दी कीबोर्ड की सुविधा आने से भारत में स्मार्टफोन बाज़ार की पैठ बढ़ने की आशा है। 
भारत में इंटरनेट उपयोगकर्त्ताओं के लिए हिन्दी के साथ-२ क्षेत्रीय भाषाओं में सामग्री उपलब्ध करवानी होगी इसके लिए ३ नवम्बर २०१४ को ही गूगल ने सामग्री रचनाकारों और प्रौद्योगिकी प्रदाताओं के साथ एक साझेदारी के लिए भारतीय भाषा इंटरनेट गठबन्धन (भाभाइंग) की घोषणा की गयी। इसके साथ ही एक हिन्दी कीबोर्ड, हिन्दी में ध्वनि खोज, हिन्दीवेब.कॉम नाम की वेबसाइट की शुरुआत की गई है।  
हिन्दीवेब.कॉम पोर्टल उपयोगकर्त्ताओं को वेबसाइट, ब्लॉग, अनुप्रयोग (ऐप) और वीडियो सम्बन्धी हर तरह की हिन्दी से संबंधित सामग्री खोजने में मदद करेगा।  भाभाइंग के संस्थापक सदस्यों में से एक राकेश देशमुख, फर्स्टटच के सह-संस्थापक और सीईओ ने कहा "अभी भारत में इंटरनेट को अपनाने में सबसे बड़ी बाधा भाषा है। ” 
"बहुत सारे लोग इंटरनेट का उपयोग करना चाहते हैं, पर वे इन उपकरणों पर अंग्रेजी के उपयोग से आशंकित हैं इसलिए स्मार्टफोन पसंद नहीं करते हैं। "
खोसला के अनुसार, गूगल ओएस के आगामी संस्करण एंड्रॉयड एल की सुविधा से सज्ज स्मार्टफोन उपकरणों पर स्वतः स्थापित हिन्दी कीबोर्ड होगा।  गूगल द्वारा समर्थित घरेलू हैंडसेट विक्रेताओं माइक्रोमैक्स, कार्बन और स्पाइस द्वारा बेचे जा रहे एंड्रॉयड वन उपकरण, गूगल नेक्सस और मोटोरोला स्मार्टफोन पर एंड्रॉयड एल ओएस सबसे पहले उपलब्ध होगा ऐसी उम्मीद है. गूगल जल्द ही भारत में इस अपडेट की उपलब्धता की तारीख की घोषणा करेगा ऐसी उम्मीद है। 

गूगल इंडिया के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राजन आनंदन ने कहा "भारत में हर महीने 50 लाख इंटरनेट उपयोगकर्त्ता जुड़ते हैं और वे सभी मोबाइल पर इसका प्रयोग करते हैं।  2017 तक हमारा लक्ष्य  ५० करोड़ उपयोगकर्त्ताओं को ऑनलाइन लाना है। ”

स्त्रोत: टेलिकॉमपेपर 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपसे विनम्र प्रार्थना है इस पोस्ट को पढ़ने के बाद इस विषय पर अपने विचार लिखिए, धन्यवाद !