अनुवाद

मंगलवार, 4 नवंबर 2014

गूगल का भारतीय भाषाओं के लिए एक नया मंच

हिन्दी इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की बढ़ती संख्‍या को देखते हुए गूगल ने वेब पर हिन्दी को बढ़ावा देने का निर्णय किया है. इसके लिए कंपनी ने हिन्दी में ध्वनि खोज जैसे कई नए कदम उठाए हैं. जबकि भारतीय भाषा इंटरनेट गठबंधन (भाभाइंग) की भी घोषणा की गई है, जो वेब पर हिन्दी सामग्री मुहैया कराएगा. “आजतक” वेबसाइट हिन्दी को बढ़ावा देने के अभियान में गूगल की सामग्री भागीदार बनी है.

सोमवार को नई दिल्‍ली में आयोजित एक कार्यक्रम में गूगल ने इस हेतु  घोषणाएँ कीं, जिसमें केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी भाग लिया. केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'भारतीय लोग तकनीक को पसंद करते हैं. आज हर किसी के पास फेसबुक खाता है, लेकिन इस ओर और भी बहुत कुछ किया जा सकता है. अगर तकनीक उपयोगकर्त्ता के लिए आसान हो तो लाखों-करोड़ों लोग इंटरनेट से जुड़ना चाहेंगे.'

जावड़ेकर ने कहा कि पहले हिन्दी और क्षेत्रीय भाषाओं के लिए ऐसा कोई प्‍लेटफॉर्म नहीं था, लेकिन अब इस गठबन्धन से लोगों को एक नया मंच मिलेगा.

गूगल की नयी पहल में क्‍या है नया?

इस अवसर पर गूगल ने एक नई वेबसाइट www.hindiweb.com को भी लोकार्पित किया, जिस पर हिन्दी में एक ही स्थान पर १५ श्रेणियों में स्तरीय सामग्री उपलब्‍ध होगी. गूगल ने हिन्दी उपयोगकर्ताओं  के लिए अब हिन्दी  में ध्वनि खोज अथवा वॉइस सर्च, एक नए उन्नत हिन्दी कीबोर्ड (गूगल हिन्दी  इनपुट) की घोषणा की है. 
स्रोत: श्री विजय मल्होत्रा (आजतक के माध्यम से)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपसे विनम्र प्रार्थना है इस पोस्ट को पढ़ने के बाद इस विषय पर अपने विचार लिखिए, धन्यवाद !