अनुवाद

शनिवार, 12 जुलाई 2014

लोकसभा में उठी संघ लोक सेवा आयोग से सीसैट हटाने की मांग

नई दिल्ली : लोकसभा में संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा में शामिल किये गए सीसैट को समाप्त करने की शुक्रवार को मांग उठी।

सपा के धर्मेन्द्र यादव और भाजपा के योगी आदित्यनाथ ने शून्यकाल के दौरान यह मामला उठाया।
यादव ने कहा कि सीसैट लागू किया जाना ग्रामीण पृष्ठभूमि वाले छात्रों और हिन्दी भाषी तथा अन्य क्षेत्रीय भाषा वालों के खिलाफ षड्यंत्र है। उन्होंने कहा कि 2008 की परीक्षा में प्रारंभिक परीक्षा में 45 प्रतिशत, 2009 में 42 और 2010 में 35 प्रतिशत ग्रामीण अथवा हिन्दी भाषी पृष्ठभूमि के छात्र उत्तीर्ण हुए थे, वहीं सीसैट लागू होने के बाद से यह घटकर 11 प्रतिशत रह गया।
भाजपा के योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हिन्दी समेत सभी भारतीय भाषाओं की अनदेखी की जा रही है। उन्होंने ने भी सिविल सेवा परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा से सीसैट हटाने की मांग की।
भाषा 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपसे विनम्र प्रार्थना है इस पोस्ट को पढ़ने के बाद इस विषय पर अपने विचार लिखिए, धन्यवाद !