अनुवाद

शनिवार, 16 मार्च 2013

एकल स्वामित्व फर्म का सीमित देयता भागीदारी (एलएलपी) में रूपांतरण



प्रमुख लाभ:

क) स्वचालित हस्तांतरण

रूपांतरण से पहले की एकल स्वामित्व फर्म की सभी संपत्ति और देनदारियाँ तुरंत सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  की संपत्ति और देनदारियाँ बन जाती है.

ख) कोई स्टाम्प ड्यूटी देय नहीं

सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  में एकल स्वामित्व फर्म स्वतः बनियान के सभी चल और अचल संपत्ति है. हस्तांतरण के कोई साधन निष्पादित करने की आवश्यकता है और इसलिए कोई स्टांप शुल्क के लिए भुगतान किया जाना आवश्यक है.

ग) कोई पूंजीगत लाभ कर

एकल स्वामित्व फर्म से सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  को संपत्ति के हस्तांतरण पर कोई पूंजी अभिलाभ कर वसूल नहीं किया जाएगा.

घ) एकल स्वामित्व फर्म की ब्रांड वैल्यू जारी रहेगी

एकल स्वामित्व फर्म की ख्याति और उसकी ब्रांड वैल्यू बरकरार रहती है और कानूनी मान्यता के साथ पिछली सफलता लाभ निरंतर जारी रहता है.

ई) हानियों और गैर-अवशोषित मूल्यह्रास को आगे ले जाने एवं सेटऑफ की अनुमति

फर्म की संचित हानि और अनवशोषित मूल्यह्रास को उस पिछले वर्ष का उत्तराधिकारी सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा) का मूल्यह्रास / हानि माना जाता है जिस वर्ष में रूपांतरण किया गया. इस प्रकार इस तरह के नुकसान को उत्तराधिकारी सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  अगले आठ साल के आगे ले जा सकती है.

स्वामित्व फर्म के एक सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  में रूपांतरण में कदम

सं
कदम
कालावधि (कार्यदिवस)
प्रसंस्करण
डीएससी  (डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाणपत्र)

1
जरूरी दस्तावेज (स्व अनुप्रमाणित):
पते का सबूत
पहचान का सबूत
डीपीआईएन  ( निर्दिष्ट भागीदार  पहचान संख्या)
स्वीकृत डीपीआईएन  निगमन प्रक्रिया के लिए एक पूर्व अपेक्षा है



5

डीपीआईएन  लिए आवेदन करें और एक अनंतिम डीपीआईएन  मिल जाएगा
निदेशक की व्यक्तिगत जानकारी का प्रमाणन
इसे एमसीए सेल भेजें और मंजूरी प्राप्त करें  
3
नाम का आवेदन करने से पहले खोज
-
प्रवर्तकों  को  प्राथमिकता के क्रम में कम से कम 6 (छह) नाम प्रदान करने चाहिए
प्रवर्तकों  द्वारा वांछित नामों की उपलब्धता के लिए  ऑनलाइन खोज करें  
4
नाम की उपलब्धता के लिए आवेदन
प्रपत्र 1 की फाइलिंग
प्रस्तावित कंपनी के लिए 6 नाम
मुख्य उद्देश्य खण्ड


6
सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  द्वारा पंजीयन के बाद प्राप्त किए जाने वाले मुख्य उद्देश्य का मसौदा तैयार करना
प्रवर्तकों  की ओर से आरओसी के समक्ष प्रस्तुति

1
नाम आवेदन में आरओसी द्वारा सुझाए गए परिवर्तन, यदि कोई हो, करना
एक सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  के पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज
सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा) ठहराव/ समझौता
फार्म 2
(प्रोमोटर द्वारा वक्तव्य)
फार्म 3
(सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  समझौते के बारे में सूचना)
फार्म 4 और फार्म 9
(निर्दिष्ट भागीदारों की सहमति एवं नियुक्ति उनके व्यक्तिगत विवरण के साथ )
सदस्यता पृष्ठ पर प्रवर्तकों  द्वारा हस्ताक्षर करवाना
विधिवत स्टंप ड्यूटी चुकाया सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  समझौता
पंजीकृत कार्यालय  के पते का प्रमाण


2








सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  समझौते मसौदा तैयार करना एवं ह प्रवर्तकों  द्वारा उसकी जाँच करवाना फिर उसे छपने के लिए भेजना
ई-फर्मों का  प्रक्रियाकरण


अंतिम प्रक्रिया:
आरओसी के पास  उपरोक्त सभी दस्तावेज दाखिल करना , आरओसी के साथ फॉलोअप करना
आरओसी के सुझाव के अनुसार  सीमित देयता भागीदारी (सीदेभा)  समझौते / अन्य निगमन दस्तावेजों में परिवर्तन करना

5



ई - फार्म ऑनलाइन अपलोड  करना
पंजीकरण शुल्क का भुगतान करना
निगमन प्रमाणपत्र जारी



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपसे विनम्र प्रार्थना है इस पोस्ट को पढ़ने के बाद इस विषय पर अपने विचार लिखिए, धन्यवाद !